Maine tujhe likhane ki jurrat ki…top shayari…

तेरा हुस्न बयां करना मकसद नहीँ था मेरा…
ज़िद कागजों ने की थी और कलम चल पड़ी।

ना महफ़िल में देखा ना फसाने में देखा…
ना महफ़िल में देखा ना फसाने में देखा
ना तुम सा हसीन इस ज़माने में देखा

जब भी तेरी ये शिल्की जुल्फ़े….
मदहोश हवाओ में इठलाती है
कमबख्त मेरे दिल को तड़पाती है

दिल करता है कि तेरे इस माथे को चूम लूं…
जो मेरे दिल को भाती है।

हया से सर झुका लेना अदा से मुस्कुरा देना,
यूं नज़ाकत से अपनी पलकें गिरा लेना…
ये कातिल नजरे हमसे छुपा लेना।
आपको भी कितना सहल है बिजली गिरा देना

आपकी आंखों की बात ही क्या करू सनम
इन नशीली आंखों की फितरत है…
हमे आंखों से पीला देना

जी चाहता है मै भी इन आंखों से पी लूं…
जाम का क्या है सुबह पिओ शाम को उतर जाती है।
जी चाहता है ज़िन्दगी इन नशीली आंखो के सहारे जी लूं।

तेरी ये कोमल सी गालो पे…
रेशमी जुल्फों का बार बार आना
फिर अपनी कोमल हाथो से …
उन्हें बार बार हटाना।
मेरे दिल को छू जाती है…
तेरा ये मुझे देखकर मुस्कुराना।

तेरे नाज़ुक लबो की क्या कहिए सनम…
पंखुड़ियां है ये गुलाब की।
आरज़ू है कि चूम लू इन लबों को…
छलकता जिसमें है नशा ए शराब की।

जलती होंगी गुलाब भी इन लबों की लाली देखकर।
मुस्कुराते होंगे भौरे भी इन लबों की हंसी देखकर।

दिल ए तमन्ना है इन लबों को लबों से लगा लूं…
तेरे इस लबों की लाली से शबनम चुरा लूं।

तेरे चेहरे की हंसी देखकर जी मचल सा जाता है…
यूं नज़ाकत से नजरे ना झुकाया करो  सनम…
दिल ए कमबख्त तड़पकर बिखर सा जाता है।

तेरी फूलों सी नाज़ुक कमर छूने  की ख्वाहिश है…
कोमल  कमशिन बदन चूमने की ख्वाहिश है…
सबनम भरी तेरी ये जवानी पीने की ख्वाहिश है…
कुछ नहीं चाहिए अब इस दुनिया से…
मेरा तो बस तेरे संग जीने की ख्वाहिश है।

जी करता है तेरी मदमस्त जवानी तेरे इन लबों से पी जाऊं…
और इस छोटे से पल में कई सदियां जी जाऊ…
तेरे इस बाली उमर का क्या कहिए सनम…
जी करता है ये सबनम भरी जवानी निचोड़कर पी जाऊं।

डरता हूं तेरी ये जवानी बदनाम ना हो जाए
इस पर मेरे नाम का दाग ना हो जाए
तुझे खोने से डर नहीं लगता सनम
डरता हूं कि मेरे रहते तू किसी और की हकदार ना हो जाए।

माफ़ कर ऐ हसीना कि मैंने ये हिम्मत की…
लायक नहीं पर गुस्ताख ए मोहब्बत की।
तेरा ये हुस्न बदन एक कविता है…
और मैंने तुम्हे लिखने की जुर्रत की।








Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.